Friday, 12 August 2016

25 Desh Bhakti Shayari In Hindi

Desh Bhakti Shayari In Hindi


Hi Friends, 15 August 2016 Ko Ham Sahbi Apne Desh Ki 70th Independence Day Manayenge. Hamara Desh Thik 70 Saal Pahle Isi Din Aazaad Hua Tha.

Isi Liye Aaj Ham Padhte Hain Kuchh Desh Bhakti Shayari Jo Hame Apne Viron Ki Yaad Dilaye, Jinhone Apna Balidan Dekar Ham Sabhi Ko Aazaadi Dilayi Hai.

Desh Bhakti Shayari In Hindi - Desh Bhakti Quotes In Hindi


 

!!!==–..__..-=-._;
!!!==–..@..-=-._;
!!!==–..__..-=-._;
!!
!!
!!
HAPPY INDEPENDENCE DAY !!!
SAARE JAHA SE ACHHA ~~~~ HINDUSTAN HAMARA!!

 

Desh Bhakti Shayari [ 1 to 10 ]


Shayari 1. Aajaadi Ki Kabhi Sham Nahi Hone Denge,

Shahidon Ki Kurbani Badnaam Nahi Hone Denge,
Bachi Ho Jo Ek Bund Bhi Lahu Ki,
Tab Tak Bharat Mata Ka Aanchal Milaam Nahi Hone Denge.
आजादी की कभी शाम नहीं होने देंगे
शहीदों की कुर्बानी बदनाम नहीं होने देंगे
बची हो जो एक बूंद भी लहू की
तब तक भारत माता का आँचल नीलाम नहीं होने देंगे

Shayari 2. Mera “Hindustan” Mahan Tha,
Mahan Hai Aur Mahan Rahega,
Hoga Hausla Sab K Dilo Me Buland
To Ek Din Pak B Jai Hind Kahega.
लिख रहा हूं मैं अजांम जिसका कल आगाज आयेगा,
मेरे लहू का हर एक कतरा इकंलाब लाऐगा
मैं रहूँ या ना रहूँ पर ये वादा है तुमसे मेरा कि,
मेरे बाद वतन पर मरने वालों का सैलाब आयेगा

Shayari 3. Mujhe Na Tan Chahiye, Na Dhan Chahiye,
Bas Aman Se Bhara Yah Vatan Chahiye,
Jab Tak Jinda Rahun, Is Matri - Bhumi Ke Liye,
Aur Jab Marun To Tiranga Kafan Chahiye.
मेरा "हिंदुस्तान" महान था,
महान है और महान रहेगा,
होगा हौसला बुलंद सब के ड़ों में बुलंद
तो एक दिन पाक भी जय हिन्द कहेगा.

Shayari 4. Naa Poochho Jamaney Ko,
Kya Hamari Kahani Hain,
Hamari Pehchaan To Sirf Ye Hai
Ki Hum Sirf Hindustani Hain…!!!
न पूछो ज़माने को,
क्या हमारी कहानी है,
हमारी पहचान तो सिर्फ ये है,
की हम सिर्फ हिन्दुस्तानी हैं ......!!!

Shayari 5. Main Bharatvarsh Ka Hardam Amit Samman Karta Hun,
Yahan Ki Chandani Mitti Ka Hi Gungan Karta Hun,
Mujhe Chinta Nahi Hai Swarg Jaakar Moksh Paane Ki,
Tiranga Ho Kafan Mera, Bas Yahi Armaan Rakhta Hun.
मैं भारतवर्ष का हरदम अमिट सम्मान करता हूँ
यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,
मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,
तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ।

Shayari 6. Shahidon Ki Chitaon Par Lagenge Har Barsh Mele,
Vatan Pe Mar Mitne Valon Ka Baki Yahi Nishan Hoga.
शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले,
वतन पे मर मिटने वालों का बाकी यही निशां होगा

Shayari 7. Anekta Me Ekta Hi Is Desh Ki Shan Hai,
Isliye Mera Bharat Mahan Hai.
अनेकता में एकता ही इस देश की शान है,
इसीलिए मेरा भारत महान है

Shayari 8. Hamari Pahchan To Sirf Ye Hai Ki Ham Bhartiya Hain.
हमारी पहचान तो सिर्फ ये है कि हम भारतीय हैं.

Shayari 9. Khushnasib Hain Vo Jo Vatan Par Mit Jaate Hain,
Markar Bhi Vo Log Amar Ho Jaate Hain,
Karta Hun Unhe Salaam E Vatan Pe Mitne Valon,
Tumhari Har Saans Me Tirange Ka Naseeb Basta Hai.
खुशनसीब हैं वो जो वतन पर मिट जाते हैं,
मरकर भी वो लोग अमर हो जाते हैं,
करता हूँ उन्हें सलाम ए वतन पे मिटने वालों,
तुम्हारी हर साँस में तिरंगे का नसीब बसता है.

Shayari 10. Jo Ab Tak Na Khaula, Vo Khun Nahi Paani Hai,
Jo Desh Ke Kaam Na Aaye, Vo Bekaar Jawani Hai.
जो अब तक ना खौला, वो खून नहीं पानी है,
जो देश के काम ना आये, वो बेकार जवानी है

Desh Bhakti Shayari [ 11 to 20 ]


Shayari 11. Ye Ped, Ye Patte, Ye Shakhen Bhi Pareshan Ho Jayen !
Agar Parinde Bhi Hindu Aur Muslman Ho Jayen
.
.
Na Masjid Ko Jaante Hain, Na Shivalon Ko Jaante Hain
Jo Bhukhe Pet Hote Hain, Wo Sirf Nivalon Ko Jaante Hain.
Mera Yahi Andaj Jamane Ko Khata Hai,
Ki Mera Chirag Hawa Ke Khilaf Kyon Jalta Hai ?
Main Aman Pasand Hun, Mere Shahar Me Danga Rahne Do,
Laal Aur Hare Me Mat Baton, Mere Chhat Par Tiranga Rahne Do.
Happy Independence Day
ये पेड़ ये पत्ते ये शाखें भी परेशान हो जाएं !
अगर परिंदे भी हिन्दू और मुस्लमान हो जाएं
.
.
न मस्जिद को जानते हैं , न शिवालों को जानते हैं
जो भूखे पेट होते हैं, वो सिर्फ निवालों को जानते हैं.
मेरा यही अंदाज ज़माने को खलता है.
की मेरा चिराग हवा के खिलाफ क्यों जलता है.
में अमन पसंद हूँ, मेरे शहर में दंगा रहने दो,
लाल और हरे में मत बांटो, मेरी छत पर तिरंगा रहने दो

Shayari 12. Jindagi Jab Tujhko Samjha, Maut Phir Kya Chij Hai,
E Vatan Tu Hi Bata, Tujhse Badi Kya Chij Hai.
जिंदगी जब तुझको समझा, मौत फिर क्या चीज है
ऐ वतन तू हीं बता, तुझसे बड़ी क्या चीज है.

Shayari 13. E Mere Vatan Ke Logon Tum Khub Laga Lo Naara,
Ye Shubh Din Hai Ham Sab Ka Lahra Lo Tiranga Pyara,
Par Mat Bhulo Seem Par Viron Ne Hain Pran Gawayen.
Kuchh Yaad Unhe Bhi Kar Lo Jo Laut Ke Ghar Na Aaye....
ऐ मेरे वतन के लोगों तुम खूब लगा लो नारा
ये शुभ दिन है हम सब का लहरा लो तिरंगा प्यारा
पर मत भूलो सीमा पर वीरों ने है प्राण गँवाए
कुछ याद उन्हें भी कर लो जो लौट के घर न आये….

Shayari 14. Likh Raha Hun Main Anjaam Jiska Kal Aagaj Aayega,
Mere Lahu Ka Har Ek Katra Inqlab Layega,
Main Rahun Ya Na Rahun Par Ye Vada Hai Tumse Mera Ki,
Mere Baad Vatan Par Marne Valon Ka Sailab Aayega.
मुझे ना तन चाहिए, ना धन चाहिए
बस अमन से भरा यह वतन चाहिए
जब तक जिन्दा रहूं, इस मातृ-भूमि के लिए
और जब मरुँ तो तिरंगा कफ़न चाहिये

Shayari 15. Apni Aazaadi Ko Ham Hargiz Mita Sakte Nahi,
Sar Kata Sakte Hain Lekin Sar Jhuka Sakte Nahi.
अपनी आज़ादी को हम हरगिज़ मिटा सकते नहीं
सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नहीं

Shayari 16. Na Maro Sanam Bewafa Ke Leeye,
Do Gaz Jameen Nhi Milegi Dafan Hone K Liye,
Marna Hai Toh Maro Vatan Ke Liye,
Hasina Bhi Duppta Utar Degi Tere Kafan Ke Liye.
न मरो सनम बेवफा के लिए,
दो गज जमीन नहीं मिलेगी दफ़न होने के लिए,
मरना है तो मरो वतन के लिए,
हसीना भी दुपट्टा उतार देगी तेरे कफ़न के लिए.

Shayari 17. Kuchh Nasha Tirange Ki Aaan Ka Hain,
Kuch Nasha Matrbhumi Ki Shaan Ka Hai
Hum Lahrayenge Har Jagah Ye Tiranga
Nasha Ye Hindustan Ki Shaan Ka Hain..!!
कुछ नशा तिरंगे की आन का है,
कुछ नशा मातृभूमि की शान का है,
हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा,
नशा ये हिंदुस्तान की शान का है.

Shayari 18. Chalo Phir Se Aaj Woh Nazara Yaad Kar Le,
Shahido Ke Dil Me Thi Vo Jwala Yaad Karle,
Jisme Behkar Azadi Pahuchi Thi Kinare Pe
Deshbhakto Ke Khoon Ki Vo Dhara Yad Krle
चलो फिर से आज वो नजारा याद कर लें,
शहीदों के दिल में थी वो ज्वाला याद करले,
जिसमे बहकर आज़ादी पहुची थी किनारे पे,
देशभक्तों के खून की वो धरा याद कर लें.

Shayari 19. Ishq Toh Karta Hain Har Koyi
Mehboob Pe Marta Hain Har Koyi,
Kbhi Watan Ko Mehbub Bna Kr Deko
Tujh Pe Marega Har Koyi……!!!
इश्क तो करता है हर कोई,
महबूब पे मरता है तो हर कोई,
कभी वतन को महबूब बना कर देखो
तुझ पे मरेगा हर कोई ..........!!!

Shayari 20. Khoon Se Khelenge Holi,
Agar Watan Mushkil Mein Hain,
Sarfaroshi Ki Tamanna,
Ab Humarey Dil Mein Hain,
Aao Milkar Kare Desh Ko Salam
Bolo Mera Bharat Mahan….!!!
खून से खेलेंगे होली,
अगर वतन मुश्किल में है,
सरफरोशी की तमन्ना,
अब हमारे दिल में है,
आओ मिलकर करे देश को सलाम,
बोलो मेरा भारत महान ......!!!

Desh Bhakti Shayari [ 21 to 25 ]


Shayari 21. Watan Hamara Aise Na Chhor Paaye Koi,
Rishta Hamara Aise Na Tod Paaye Koi,
Dil Hamare Ek Hai Ek Hai Hamari Jaan,
Hindustan Hamara Hai Hm Hai Iski Shaan.
वतन हमारा ऐसे न छोड़ पाए कोई,
रिश्ता हमारा ऐसे न तोड़ पाए कोई,
दिल हमारे एक है एक है हमारी जान,
हिंदुस्तान हमारा है, हम है इसकी शान.

Shayari 22. Desh Ko Aazaadi Ke Naye Afsanon Ki Jarurat Hai,
Bhagar-Aazaad Jaise Aazaadi Ke Deewanon Ki Jarurat Hai,
Bharat Ko Phir Deshbhakt Parwanon Ki Jarurat Hai.
देश को आजादी के नए अफसानों की जरूरत है
भगत-आजाद जैसे आजादी के दीवानों की जरूरत है,
भारत को फिर देशभक्त परवानों की जरूरत है.

Shayari 23. Ye Baat Hawao Ko Bataye Rakhna,
Roshni Hogi Chirago Ko Jalaye Rakhna,
Lahu Dekar Jiski Hifazat Humne Ki…
Aise TIRANGE Ko Sada Dil Me Basaye Rakhna.
ये बात हवाओ को भी बताये रखना,
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना,
लहू देकर जिसकी हिफाज़त हमने की ..
ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना .

Shayari 24. Hlki Si Dhup Brsat K Baad,
Thori Si Khushi Hr Baat K Baad,
Isi Tarh Mubark Ho Ap Ko,
Azadi 1 Din K Baad.
हलकी सी धुप बरसात के बाद,
थोरी सी खशी हर बात के बाद,
इसी तरह मुबारक हो आप को,
आजादी 1 दिन के बाद.

Shayari 25. Jinhe Hai Pyar Vatan Se, Vo Desh Ke Liye Apna Lahu Bahate Hain,
Maa Ki Charnon Me Apna Shish Chadhakar, Desh Ki Aazadi Bachate Hain,
Desh Ke Liye Hanste-Hanste Apni Jaan Lutate Hain.
जिन्हें है प्यार वतन से, वो देश के लिए अपना लहू बहाते हैं
माँ की चरणों में अपना शीश चढ़ाकर, देश की आजादी बचाते हैं
देश के लिए हँसते-हँसते अपनी जान लुटाते हैं.

WISH YOU ALL A HAPPY INDEPENDENCE DAY !!
MAY OUR COUNTRY PROGRESS IN EVERYWHERE AND IN EVERYTHING
SO THAT THE WHOLE WORLD SHOULD HAVE PROUD ON US
HINDUSTAN JINDABAD !!




आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं !
इश्वर करे की हमारा देश सभी जगह और सभी चीज में उन्नति करे,
ताकि पूरी दुनिया को हम पर गर्व हो.
हिंदुस्तान जिंदाबाद !!


12 comments:

  1. Just awesome bro. keep it up :) I really like the way you customize your post. nice work :)

    ReplyDelete
  2. bahut badhiya post. dhnybad jaankari ke liye :)

    ReplyDelete
  3. Thanks a lot Sir, Aaphi se sikha hun.

    ReplyDelete
  4. welcome, aate rahiye wikihi.in par :)

    ReplyDelete
  5. Awesome Collection far better then my friends Love Shayari blog,Please post more on 26th January Shayari related shayari.

    ReplyDelete
  6. Please give more collection of Deshbhakti Sayari

    ReplyDelete
  7. Pyaar to karte h sbhi lekin me asli pyaar vohi h Jo vtn ke liy kar ...................love you I......?

    ReplyDelete
  8. Pareil que Actarus, 3/10 c’est violent comme note… enfin maintenant c’est aussi une question de goût, j’ai recommencé 4 fois Dead Island avec presque 50heures de jeux ^^ et j’dois dire que je m&saquo;smure toujours autant dessus!En tout cas la cover est superbe bien vite le 11/11/11

    ReplyDelete
  9. This very blog is definitely inisteertng and factual. I have discovered a bunch of helpful stuff out of this amazing blog. I’d love to visit it again soon. Thanks!

    ReplyDelete